Breaking News
Home / National / चाइल्डलाइन लखनऊ और नीलांकृत की ब्रांड अम्बेसडर अंकिता बाजपेयी ने किया मार्वलस इंडिया रिकॉर्ड्स वापस

चाइल्डलाइन लखनऊ और नीलांकृत की ब्रांड अम्बेसडर अंकिता बाजपेयी ने किया मार्वलस इंडिया रिकॉर्ड्स वापस

Hits: 12

दिनांक 26-11-16 को संगीत नाट्य अकादमी में मार्बलस इंडिया रिकार्ड्स द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में विभूतियों को सम्मान से पहले उजागर हुआ सच। इसी वर्ष लगातार 8 घंटे पानी में और लगातार 5 घंटे मटके पर नृत्य कर रिकॉर्ड बनाने वाली अंकिता वाजपेयी ने अपना रिकॉर्ड्स वापस किया और सच को उजागर किया। उन्होंने कहा की यह रिकॉर्ड अपनी गरिमा को दिन-ब-दिन धूमिल करती जा रही है। उनका कहना है कि न ही कोई जिम्मेदार व्यक्ति दिशा निर्देश बताता है न ही कार्यालय का पता। यहाँ तक की जब रिकॉर्ड्स बनते है उस वक़्त वहाँ कोई कोऑर्डिनेटर भी मौजूद नही होता। इस प्रकार का रिकॉर्ड्स दिया जाना किसी भी प्रकार से सही नही ठहराया जा सकता है।

अंकिता वाजपेयी द्वारा पहले अवगत करा देने  के वावजूद जब वो स्टेज पर गईं और  वहां मौजूद गणमान्य व्यक्तियों के सामने अपना रीकॉर्डस वापस करने  की बात बताना जैसे हीं शुरू किया वैसे ही वहाँ मौजूद सदस्यों ने बदसलूकी शुरू कर दी और स्टेज से उतार दिया और सच को सामने लाने से पहले ही दवाने का प्रयत्न किया गया और वहाँ मौजूद सभी गणमान्य व्यक्ति मूकदर्शक बने रहे। यह वाक्या वाकई में लगातार 8 घंटे घुटने तक पानी में नृत्य कर रिकॉर्ड बनाने वाली इस मासूम सी बच्ची का बेहद बड़ा और क़ाविलेतारीफ़ क़दम है।

विशेषज्ञों के अनुसार किसी रिकॉर्ड्स को वापस करना अपनी मेहनत बर्बाद करना है जो की इस बच्ची ने किया है। आखिर कही न कही इस रिकॉर्ड्स के पीछे कोई रहस्य तो जरूर छुपा है जिसे इस बच्ची ने सामने लाने की कोशिश की और उसे लाने नही दिया गया। क्या वास्तव में मार्वलस इंडिया रिकॉर्ड्स ने अपनी गरिमा से खेला है या इससे जुड़े कुछ कथित व्यक्तियों के कारण इसके गरिमा पर आंच आई है ?

क्या वास्तव में यहाँ रिकॉर्ड्स खरीदने -बेचने का धंधा चलाया जा रहा है ? आखिर क्या है सच्चाई ? आखिर क्यों बोलने का मौका नही दिया गया ? अंकिता ने अपने वक्तव्य में कहा की इन्हें रिकॉर्ड्स की गरिमा नही रूपए की फिकर होती है। कलाकारों के मान सम्मान को पैसों के बल  पर देखा जाता है। कलाकारों से खिलवाड़ किया जाता है। आखिर क्यों ? इसकी जाँच होनी चाहिए और उसपर करवाई भी होनी चाहिए। रिपोर्ट : कीर्ति मिश्रा

Check Also

बिदुपुर में चल रहे सामुदायिक किचेन का आर्थिक दृष्टि से कमजोर श्रमिक ले रहे लाभ

Hits: 0बिदुपुर। गरीब और लाचार व्यक्तियों के लिए मुख्यमंत्री द्वारा सामुदायिक कीचेन खोलने के निर्देश …

संस्कार सेवा सदन एवं ट्रामा सेंटर अस्पताल जंदाहा को किया गया सील

Hits: 0जिला प्रशासन के निर्देश पर स्थानीय प्रशासन ने जंदाहा बाजार के समस्तीपुर रोड में …

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: