Breaking News
Home / Breaking News / आप नेता कुमार विश्वास 14 पेशियों से गैरहाजिर

आप नेता कुमार विश्वास 14 पेशियों से गैरहाजिर

Hits: 88

रिपोर्ट: पवन द्विवेदी, सुल्तानपुर । आम आदमी पार्टी के(आप)नेता कुमार विश्वास के खिलाफ 2014 के लोकसभा इलेक्शन के दौरान दर्ज हुए 2 केस में जिले की पुलिस वारंट के बाद भी उन्हें कोर्ट में पेश नहीं करा सकी है। ऐसे में अब पुलिस को 3 फरवरी तक उन्हें कोर्ट में पेश करना है। आप नेता 14 पेशियों से गैरहाजिर चल रहे हैं। कोर्ट ने नवंबर, 2017 में दो अलग-अलग केस में गैर जमानती वारंट जारी किया है।

28 नवम्बर को जारी हुआ था वारंट

आप नेता कुमार विश्वास ने हाईकोर्ट में चार्जशीट रद्द करने की अर्जी दी थी। अर्जी पर सुनवाई पूर्ण होने तक हाईकोर्ट ने उनके खिलाफ कोई कार्रवाई करने से लोवर कोर्ट को रोक दिया था। इस दौरान यहां की एसीजेएम अष्टम की अदालत से उनके विरुद्ध जारी जमानती वारंट के क्रियान्वयन पर रोक लग गई थी।कुछ समय के बाद हाईकोर्ट ने कुमार विश्वास को राहत नहीं दी और उन्हें न्यायालय में आत्मसमर्पण का निर्देश दिया था।

इस क्रम में उन्होंने 23 जुलाई, 2016 को सरेंडर किया था और कोर्ट ने उसी दिन उनको बेल भी दे दी थी। लेकिन तब से अब तक आप नेता कोर्ट में किसी भी डेट पर हाजिर नहीं हुए। जिसको देखते हुए अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अनिल कुमार सेठ ने उनके खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी कर दिया था।पुलिस को उन्हें कोर्ट पेश करना था लेकिन पुलिस वारंट का तामीला नहीं करा सकी। ऐसे में केस की अगली सुनवाई की 3 फरवरी को तय की गई है।

ये है मामला, बीते लोकसभा चुनाव में अमेठी सीट से कांग्रेस के राहुल गांधी और भाजपा की स्मृति ईरानी के खिलाफ कुमार विश्वास चुनाव मैदान में थे। कुमार विश्वास और उनके सैकड़ों समर्थकों के खिलाफ 3 मई, 2014 को गौरीगंज थाना क्षेत्र के तत्कालीन थानाध्यक्ष रतन सिंह ने अवैध प्रचार सामग्री रखने, सरकारी काम में बाधा डालने समेत कई आरोपों में मुकदमा दर्ज किया था।

एक दूसरे मामले में कुमार विश्वास के विरुद्ध इसी अदालत में एक और मामला विचाराधीन है। यह मामला भी गौरीगंज थानाध्यक्ष द्वारा 18 अप्रैल, 2014 को दर्ज कराया गया था। चुनाव के दौरान कुमार विश्वास अपने समर्थकों के साथ गौरीगंज थाना पहुंचे थे और उन्होंने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के खिलाफ मुकदमा लिखे जाने की मांग की थी। आरोप है कि इस दौरान उन्होंने भड़काऊ भाषण दिया, पुलिसकर्मियों से नोंकझोंक की और सरकारी काम में बाधा पहुंचाई।

फिलहाल इस मामले में जब एसपी अमित वर्मा से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा- “जांच कराएंगे, कोर्ट के आदेश को जामा पहनाने में कमी कहां हुई उसे देखा जायेगा। जांच रिपोर्ट मिलने के बाद लापरवाह कर्मी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।”

Check Also

बिदुपुर प्रखण्ड अध्यक्ष राजेश्वर प्रसाद मुकेश ने की बिदुपुर पी एच सी को तीस बेड की करने की माँग

Hits: 0वैशाली ।वैशाली जिला जदयू जिलाध्यक्ष सुभाष चन्द्र सिंह जी के अध्यक्षता में जिले के …

प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों को जिला प्रशासन के कदम से कदम मिलाकर करना चाहिए कार्य

Hits: 0नलिनी भारद्वाज, वैशाली। कोरोना की रोकथाम को लेकर राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन द्वारा …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: