Breaking News
Home / National / वर्षो से खड़ाब पड़ा हैं प्राथमिक विद्यालय सरैया का चापाकल

वर्षो से खड़ाब पड़ा हैं प्राथमिक विद्यालय सरैया का चापाकल

Hits: 27

शिशिर समीर जन्दाहा | वर्षो से खड़ाब पड़ा हैं प्राथमिक विद्यालय ,सरैया “जन्दाहा ” का चापाकल, विभाग को लिखकर दिये हो गये पूरे सात महीने, फिर भी नही हो सकी है कोई समाधान, बच्चे जाते है दूसरे के चापाकल पर पीने के लिए पानी, जहाँ होती उनकी है अच्छी खिंचाई, लाचारी में प्रभारी रसोइया से मँगवा कर पानी पिलाने का करती है काम।यह सुरत जन्दाहा प्रखंड के प्राथमिक विद्यालय सरैया का है जहाँ
अमूमन मूलभूत आवश्यकताओं सा वंचित है विद्यालय ।

जिले के लगभग विद्यालयों में बच्चो को वंचित रखा जाता है मूलभूत सुविधाओं से।अब सवाल उठता है कि सरकार की मुफ़्त शिक्षा व्यवस्था छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ तो नहीं है ?आखिर क्या वजह है जो पानी जैसी निहायत आवश्यकता को हल्के में लेती है “विभाग ” ? स्थानीय लोगों की माने तो सरकार मुफ्त शिक्षा के नाम गरीब परिवार के बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है ।लोगों के आरोपों में दम इसलिए भी लगाता है, क्योंकि परीक्षा देने के बाद छात्रों को किताबें विभाग द्वारा भेजी जाती है लेकिन अभी तक किताबे उपलब्ध नही कराई गई।

वहीं सभी विद्यालय सरकार के स्वच्छता अभियान को धता बताती दिखाई देती है और इसका मूल कारण संसाधन का अभाव होना बताया जाता है, तो एक बड़ा सवाल है कि क्यों नहीं सरकार सरकारी शिक्षा व्यवस्था को समाप्त कर देती, ताकि लोग स्यंव के भरोसे अपने बच्चे का भविष्य बनाने का प्रयास करते ।
सरकार को शिक्षा विभाग की लापरवाही का संज्ञान लेते हुए बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ बंद करना चाहिए ।

Check Also

बिदुपुर में चल रहे सामुदायिक किचेन का आर्थिक दृष्टि से कमजोर श्रमिक ले रहे लाभ

Hits: 0बिदुपुर। गरीब और लाचार व्यक्तियों के लिए मुख्यमंत्री द्वारा सामुदायिक कीचेन खोलने के निर्देश …

संस्कार सेवा सदन एवं ट्रामा सेंटर अस्पताल जंदाहा को किया गया सील

Hits: 0जिला प्रशासन के निर्देश पर स्थानीय प्रशासन ने जंदाहा बाजार के समस्तीपुर रोड में …

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: