Breaking News
Home / आखिर शिवांगी के मौत का जिम्मेदार कौन

आखिर शिवांगी के मौत का जिम्मेदार कौन

Hits: 16

आलेख: नितेश कुमार चौधरी | आखिर शिवांगी के मौत का जिम्मेदार कौन —समाज, शासन-प्रशासन, या शिवांगी स्यंव ? कौन देगा जबाब, इन बेगुनाहों के कत्ल का ? कौन देगा जबाब कत्ल के बाद उत्पन्न जनाक्रोश में हुये संस्थान के नुकसान का ? कई सवालों को जन्मित करते हुए अनगिनत शिवांगी कालग्राहि हो गई, लेकिन दुर्भाग्य के सरजमी को संवर्धित करने वाली हमारी शासन व्यवस्था की कुंभकर्णी नींद्रा भंग नही हुई! क्या ऐसे ही दौलत न्याय खरीदने के दुष्कर्म में सफल होते रहेगा या आर्थिक विपन्नता के शिकार प्रसुती को सुरक्षा भी मिलेगी ? कब तक हम मौत के लिये भगवान को जिम्मेदार ठहराते रहेंगे या कुछ जिम्मेदारी हमारी शासन व्यवस्था भी लेगी ? आखिर कब तक हम घटना के बाद नुकसान के लिए जनाक्रोश को जिम्मेवार ठहरायेंगे या अपनी संयम संस्कार को भी फलित करेंगे ? क्या ऐसे ही कुकुरमुत्ते के तरह नीजि नर्सिंग होम खुलते रहेंगे या उसमें उपलब्ध व्यवस्था की निगरानी भी होगी? आखिर क्या वजह है कि शासन-प्रशासनके गोद में पलने वाला मौत का जिम्मेवार बेफिक्र सो रहा है? आखिर कहाँ है महिला अधिकार की लड़ाई लड़ने वाली संस्थान, क्यों नहीं देती है जबाब कि वो क्या करती है महिला सुरक्षा के लिए काम?

सवालातो के जख्म को तरोताजा करती है शिवांगी की कल महुआ के एक नीजि नर्सिंग होम में हुई मौत ।कामेश्वर सिंह कालापहाड़ थाना -जन्दाहा के प्रथम संतान शिवांगी प्रसव के लिए महुआ के एक नीजि नर्सिंग होम में भर्ती हुई थी । संस्थान द्वारा कुव्यवस्थित ढंग से ऑपरेशन शुरू कर दिया गया जबकि सर्जन और ऐंथेशिया के डाक्टर नहीं थे ।ऑपरेशन के दौरान शिवांगी डीप ऐंथेशिया की शिकार हो गई और कालग्राहि बन गई ।संस्थान ने मृत शिवांगी को अपनी गाड़ी से कहीं भेजने की तैयारी करने लगी . तो परिजन कारणो को जानना चाहें ।संस्थान के कर्मी ने वल्र्ड चढ़ने के लिए हाजीपुर ले जाने की जानकारी दिया । कर्मी के घबराहट भरी तत्परता ने शिवांगी परिजन में संशय ला दिया और जब अपने रोगी को देखा तो मानो एक से बढ़कर एक पहाड़ों का जखीरा उनके मन-मस्तिष्क को कुचलना शुरू कर दिया । परिजन गाड़ी को आगे नहीं जाने देने की जिद पर अड़ गये जबकि संस्थान भेजने पर आमादा थी ।

मामला इतना बढ गया कि नर्सिंग होम पुलिस छावनी में तब्दील हो गया और परिजन संस्थान पर अपना आक्रोश मिटाने लगे । किसी तरह परिजन के आक्रोश को शांत कराया गया, लेकिन जब तक सब कुछ समान्य होता शिवांगी के रूप में बहुत कुछ नुकसान हो चुका था ।बुद्धिजीवीयों की टीम ने पुनः एकबार शिवांगी के मौत का जिम्मेवार भगवान को ठहराकर गरीबी में जीवन जीने के विवश परिजन को मुआवजा रूपी गुलाब थमा डाला ।लेकिन सवाल एक शिवांगी की नहीं है, बल्कि आये दिन कुकुरमुत्ते के तरह फैलते जा रहे नर्सिंग होम में अनगिनत शिवांगी मौत की शिकार हो रही है । वैशाली जिला में अनुमंडल मुख्यालय महुआ लिंग अनुपात को विकृत करने वाली प्रसिद्ध स्थली में शुमार है, जबकि अनुमंडल के सभी पदाधिकारी मौजूद है ।क्या ये नहीं लगता कि रिश्वत के गोद में फलित होती यहाँ पर कुकर्मों की ये धंधा ?

आखिर कौन है गुनाहगार , कब तक ऐसे ही समाप्त होते रहेगी किसी संतान की मातृत्व स्नेह ? इसलिये हे हमारे शासन के रहनुमा शिवांगी के मौत का जिम्मेवार सिर्फ और सिर्फ आप हो ।आपके ही छाया में ही फलते है मौत के सौदागर ।

मामला महुआ चंचल सुमन के नर्सिंग होम की

Check Also

Worship Ceremony on the Occasion of Guru Purnima

गुरु पूर्णिमा के अवसर पर पूजा समारोह

Hits: 0रिपोर्ट : विजय कुमार, पातेपुर। पातेपुर स्थित लोक आस्था का महान केंद्र श्रीराम-जानकीपुरम में …

News vaishali, vaishali news, vaishali live, live vaishali, vaishali live news,hindi news vaishali, vaanishree news,vaanishree news live

तालाब मे जहर डालने से लाखों रूपये कि मछली मरी

Hits: 0रिपोर्ट :विजय कुमार, पातेपुर। पातेपुर प्रखण्ड अंतर्गत बलिगांव थाना क्षेत्र के भुसाही गांव में …

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: