Breaking News
Home / National / नामांकन नहीं होने से नाराज छात्रों का हंगामा

नामांकन नहीं होने से नाराज छात्रों का हंगामा

Hits: 14

शिशिर समीर : नामांकन नहीं होने से नाराज छात्रों का हंगामा, एनएच 103 को जाम कर काटा बबाल और कालेज प्रबंधन के विरूद्ध किया नारेबाजी , छात्रों ने लकड़ी का बोल्डर रखकर किया सड़क जाम, लगाया पैसे लेकर कम नम्बर और बाहरी छात्रों के नामांकन का आरोप,किया प्रिंसिपल के साथ धक्का-मुक्की, बीच-बचाव में आये जनप्रतिनिधि तो उन्हें भी झेलना पड़ा छात्रों का आक्रोश, मौके पर पहुंची पुलिस, किया छात्र और प्रबंधन से संवाद, प्रिंसिपल ने तेरह दिन के अंदर नामांकन कर देने का दिया अस्वासन, तब जाकर शांत हुए छात्र और हटाया जाम,वहीं प्रिंसिपल सत्यानन्द सिंह ने बताया कि पैसे का आरोप है बेबुनियाद, लेकिन नहीं है मुझे नामांकन के संबंध में कोई जानकारी, अब सवाल उठता है कि शिक्षा के मंदिर में क्यों विवश होते है छात्र आंदोलन के लिए वाद्य, कहीं न कहीं प्रबंधन की लापरवाही, जिसके होते रहते छात्र शिकार, कुछ दिन पहले भी हुई थी बबाल, जिसमें प्रशासन को करना पड़ा था खासी मशक्कत, जाम और बबाल जन्दाहा प्रखंड के मुनेश्वर मुनेश्वरी समता महाविद्यालय जन्दाहा “वैशाली ” में ।

आज जन्दाह मुनेश्वर मुनेश्वरी समता कालेज जन्दाहा एनएच 103 पर लकड़ी का बोल्डर रखकर छात्रों द्वारा सड़क जाम करने के बाद कालेज में हंगामा करने की विवशता ने कालेज प्रबंधन के कामकाज पर सवाल खड़ा कर दिया है ।आखिर एक अर्से से शांति और सौम्यता के साथ शिक्षा ग्रहण करने वाले छात्रों को हाल के दिनो में ऐसा क्या हो गया जो बार-बार हंगामा व सड़क जाम कर रहें हैं ।विगत दो-तीन महीने पहले भी छात्रों ने इसी तरह हंगामा किया था, जिसमे पुलिस प्रशासन को खासी मशक्कत करने के बाद शांति कायम हो सका था ।उस वक्त भी छात्रों ने पैसा लेने का आरोप लगाया था और आज भी नामांकन में पैसा लेकर कम अंक वाले का नामांकन करने का आरोप लगाया है ।उस वक्त छात्र, जनप्रतिनिधि, कालेज प्रबंधन और स्थानीय पुलिस-प्रशासन के बीच एक समझौता हुआ था, लेकिन हाल जस की तस बनी रही ।

छात्रों ने आरोप लगाया कि उक्त महाविद्यालय का संचालन एक स्थानीय नाईट गार्ड के द्वारा होती है, जो अपने दलालों के माध्यम से पैसे की लेन-देन करने के बाद ही नामांकन या फ्राॅम भराता है ।छात्रों का आरोप है कि पटना या यत्र-तत्र के कम अंक वाले छात्रों का नामांकन कर दिया गया और स्थानीय अधिक अंक वाले छात्रो को छोड़ दिया गया है ।आक्रोशित छात्र ने ये भी बताया कि मैं केवल इसी महाविद्यालय में नामांकन के लिए अप्लाई किया हूँ और नामांकन नहीं होने की स्थिति में मेरा भविष्य खड़ाब हो जायेगा ।

जब इस बाबत कालेज के प्रिंसिपल सत्यानन्द सिंह ने बताया कि छात्रों द्वारा पैसा लेने का आरोपबेबुनियाद है , लेकिन नामांकन में हो रही गड़बड़ी की मुझे कोई जानकारी नहीं है ।एक सवाल के जवाब में उन्होने कहा कि जानकारी तो मुझे ही रहना चाहिए था, लेकिन अभी नही है ।छात्रों के नामांकन होने नही होने के सवाल पर उन्होंने कहा सीटों की संख्या बढाने के लिए आदेश लेंगे और हरहाल में छात्रों का नामांकन होगा ।महाविद्यालय में चल रही गड़बड़ी के संबंध में उन्होंने कहा कि इस पर निगरानी रखी जायेगी ।
आखिर सवाल उठता है कि इसके लिए जिम्मेवार कौन शिक्षक, अधिकारी , सरकार ,समाज या छात्र ?
हाल ये सुरत मुनेश्वर मुनेश्वरी समता महाविद्यालय जन्दाहा “वैशाली ” का ।

Check Also

लोजपा प्रत्याशी संजय सिंह ने चलाया जनसंपर्क अभियान

Hits: 0महुआ । महुआ विधानसभा क्षेत्र के लोजपा प्रत्याशी संजय सिंह ने महुआ प्रखंड के …

चोरी की बढ़ते घटना से लोगों में दहशत

Hits: 0महुआ । महुआ थाना क्षेत्र के मंगुराही पंचायत के मंगुराही गांव में गुरुवार की …

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: