Breaking News
Home / National / Bihar / प्रमुख मनीष सहनी की हत्या के विरोध में वैशाली बंद का दिखा असर

प्रमुख मनीष सहनी की हत्या के विरोध में वैशाली बंद का दिखा असर

Hits: 240

नलिनी भारद्वाज, वैशाली। बिहार का वैशाली जिला 13 अगस्त को दिनदहाड़े थाना से महज कुछ कदमों की दूरी पर स्थित प्रखंड कार्यालय में अवस्थित प्रमुख कर्यालय के द्वार पर हाई प्रोफाइल मर्डर यानी प्रखंड प्रमुख मनीष सहनी की दर्दनाक मौत से दहल गया था।

मौत के बाद कि स्थिति ऐसी थी कि देखते देखते सैंकड़ों की संख्या में प्रमुख के समर्थक और इस दिनदहाड़े मौत के विरोधी प्रखंड मुख्यालय पर जुटने लगे।माहौल इस तरह बिगड़ गया कि आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम कर एक बाइक मे आग लगा दिया। धटना की सुचना पर पहुंचे जन्दाहा पुलिस को देख लोगों का आक्रोश और बढ़ गया और वेकाबू हो गये जिसे तितर बितर करने के लिए पुलिस ने हवाई फायरिंग की जिसमें कई लोगों को धायल होने की सुचना आई और फिर दूसरे दिन एक कि मौत भी हो गई। लेकिन आश्चर्यजनक बात यह है कि आखिर हवाई फायर में लोगों को गोलियां कैसे लगी।

उस घटना के बाद धारा 144 निषेधाज्ञा लागू कर दिया गया और पुलिस मामले की अनुसंधान में लग गई। दुुसरे दिन इस हत्या की अनसुलझी कहानी में तब मोड़ आया जब उनके भाई ने केस  दर्ज किया। इसी घटना पर मृतक के परिजनों से मिलने आये सांसद पप्पू यादव ने आरोप लगाते हुए महनार विधायक उमेश कुशवाहा और अन्य आरोपियों को सजा देने और CBI से जांच कराने की मांग करते हुए यह भी कहा कि अगर जाँच नही कराई गई तो वे सुप्रीम कोर्ट जाएंगे साथ ही उन्होंने 16 अगस्त को वैशाली बन्द की घोषणा की थी।

आज इस बंद का असर जन्दाहा समेत वैशाली जिला में देखने को मिला। जन्दाहा में सांसद पप्पू यादव और मृतक मनीष साहनी के समर्थकों ने  NH322 पर जगह जगह आगजनी कर आवागमन को बाधित कर दुकानों को बंद करवाया। समर्थक मुख्यमंत्री इस्तीफा दो, मनीष कुमार अमर रहें, पुलिस-प्रशासन मुर्दाबाद, मनीष साहनी के हत्यारे को गिरफ्तार करो के नारे लगा रहे थे। आगजनी जन्दाहा गांधी चौक, अरनिया, चाँदसराय, कल्याणी, रामपुर सुरेश चौक, लोमा बिंदी चौक आदि जगहों पर देखा गया। वहीं हाजीपुर में उग्र जाप समर्थकों ने स्टेशन, बस इत्यादि को अपना निशाना बनाया।

जन्दाहा में बन्द के दौरान अनहोनी को देखते हुए प्रशासन ने भी काफी व्यवस्था कर रखा था। सुबह से ही पुलिस बाज़ार में मार्च कर रही थी। जगह जगह काफी मात्रा में पुलिस बल तैनात किए गए थे। यूं कहें तो पूरा क्षेत्र पुलिस बल से लैस दिख रहा था।

बंद के समर्थन में सांसद पप्पू यादव भी हाजीपुर पहुंचे। वहां उन्होंने बोला कि हमे जन्दाहा नही आने की धमकी दी गई है लेकिन मुझे बचपन से ही धमकियां मिलती आ रही है इन सब धमकियों से मुझे डर नही लगता है। मैं हमेशा सच और सच्चाई के लिए लड़ा हूँ और हमेशा लड़ता रहूँगा।

Check Also

सहदेई बुजुर्ग बाजार स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शाखा के बाहर कोरोना गाइडलाइन की जमकर उड़ी धज्जियां

Hits: 0सहदेई बुजुर्ग – लॉकडाउन के दूसरे दिन सहदेई बुजुर्ग प्रखंड में एक और जहां …

गैस सिलेंडर वितरक की सुध न सरकार को न हीं संगठन को

Hits: 0वैशाली। कोरोना महामारी के दौर में फ्रंट लाइन वर्कर्स द्वारा किया जा रहा कार्य …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: