Breaking News
Home / National / Bihar / परवेज का ख्वाब करूं ओलंपिक का “परवाज”

परवेज का ख्वाब करूं ओलंपिक का “परवाज”

Hits: 0

शाहनवाज अता, हजरत जन्दाहा(वैशाली)। दौड़ने की दुनिया का बादशाह, विश्व विजेताऔर इंडिया राइजिंग स्टार 2019 से सम्मानित होने के बाद मोहम्मद परवेज आलम उर्फ टाइगर का ख्वाब है कि अब मैं मुल्क के लिए ओलंपिक का परवाज करूं और देश का नाम दुनियाभर में रौशन कर सकूं।  मोहम्मद परवेज आलम ने खास मुलाकात के दौरान बात करते हुए अपने ख्वाब इजहार किया।बताया कि मेरी ख्वाहिश है कि मैं अपने देश भारत के लिए ओलंपिक खेलूं और इसके लिए कई महीनों से वह भारतीय खेल प्राधिकरण कोलकता में जम कर तैयारी कर रहा है। इन्होंने पूरा यकीन दिलाया कि आगामी दिनों में वह देश की ओर से ओलंपिक में जरूर हिस्सा लेगा और देश का नाम कामयाबी के साथ रौशन करेगा। इससे पूर्व मोहम्मद परवेज अपने गांव वैशाली जिले के हजरत जन्दाहा प्रखंड के लोमा, बिझरौली से दौड़ते हुए 15जनवरी2019 को दिल्ली रवाना हुआ और 22जनवरी2019 को देश की राजधानी दिल्ली सिर्फ 7 दिनों में पहुंचकर दौड़ने की दुनिया का इतिहास रच “रनर बादशाह “बन गया और विश्व रिकार्ड बना डाला जो देश के लिए गर्व की बात है।

हालांकि परवेज को इस कीर्तिमान के लिए खुशी है कि वह विश्व रिकार्ड भी अपने देश की राजधानी दिल्ली में ही बनाया लेकिन बेहद अफसोस भी है कि इतना बड़ा कारनामा करने के बावजूद देश के हर दिल अजीज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज तक उन्हें मुलाक़ात करने का न वक्त दिया न ही सम्मानित किया। जबकि इसको लेकर दिल्ली स्थित पीएमओ कार्यालय भी पत्र जारी कर दिया था। वहीं चर्चा यह भी था कि 26जनवरी2019 को गणतंत्र दिवस समारोह में परवेज को प्रधानमंत्री के हाथों सम्मानित किया जाएगा मगर परवेज का यह ख्वाब अब तक ख्वाब ही बना है।

मोहम्मद परवेज इसके बावजूद हार नहीं माना और अपने कदम बढ़ाते हुए कामयाबी के मंजिल को तय करने की कसम खा ली है।  बता दें कि परवेज बीते वर्ष समय से पासपोर्ट नहीं बनने के कारण साउथ एशियन गेम्स श्रीलंका में जाने से महरूम हो गया था लेकिन अब एक नये जोश, जज्बा के साथ ओलंपिक जाने की तैयारी में जुट गया है। मोहम्मद परवेज ने अपने बचपन के कोच अमित कुमार, पिंटू मंडल और अभय कुमार का तहे दिल से शुक्रिया अदा करते हुए कहा इनलोगों के कारण ही आज मई इस मुकाम पर हूँ  इन्होंने मुझे दौड़ने के लिए हौसला अफजाई की और आगे बढाया।

Check Also

सहदेई बुजुर्ग बाजार स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शाखा के बाहर कोरोना गाइडलाइन की जमकर उड़ी धज्जियां

Hits: 0सहदेई बुजुर्ग – लॉकडाउन के दूसरे दिन सहदेई बुजुर्ग प्रखंड में एक और जहां …

गैस सिलेंडर वितरक की सुध न सरकार को न हीं संगठन को

Hits: 0वैशाली। कोरोना महामारी के दौर में फ्रंट लाइन वर्कर्स द्वारा किया जा रहा कार्य …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: