Breaking News
Home / National / Bihar / खेल भावना के आगे सभी मजहबी सीमा टुटता दिखा

खेल भावना के आगे सभी मजहबी सीमा टुटता दिखा

Hits: 38

शिशिर समिर, जन्दाहा। जिला और राज्य में नाम रौशन करने के बाद दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित मैराथन दौड़ प्रतियोगिता में रवानगी से पहले परवेज उर्फ टाइगर को लोगों ने अद्भुत विदाई किसी। खेल भावना के आगे सभी मजहबी सीमा टुटता दिखा और हिन्दू-मुस्लिम समुदाय के लोगों ने जुमे की नमाज अदायगी कर दुआ मांगकर पदक जीतने की शुभकामनाएं दी ।
परवेज उर्फ टाइगर पिता-मदन मियाँ जन्दाहा प्रखंड के बिझरौली का रहने वाला है ।लोमा के वेस्ट मॉडल पब्लिक स्कूल में पढाई करता है ।वो इसी वर्ष सीबीएससी वोर्ड से दसमी की पढाई उत्र्तीण किया है ।वो खेल के साथ पढाई में भी काफी मेघावी छात्र रहा है ।

परवेज को ओलंपिक में मिल्खा सिंह को दौङते देखकर दौङने की जिज्ञासा जगी और वहीं से गांव के बगान और चौङ-चाचर में दौङने लगा ।स्कूल प्रबंधन के सहयोग से जिला और राज्य के कई प्रतियोगिता में हिस्सा लेकर सफलता अर्जित कर चुका है ।

परवेज ने बताया कि एक दिन मैं टीवी पर ओलंपिक खेलों में मिल्खा सिंह को दौङते देखा, वहीं से मुझे भी अपने राज्य और देश के लिए पदक जीतने की जिज्ञासा जगी । सर्वप्रथम मैं स्कुली प्रतियोगिता में भाग लिया और सर्वश्रेष्ठ पदक विजेता बना ।मेरे जज्बा और खेल को देखकर स्कूल प्रबंधन ने जिला और कई राज्यों में आयोजित प्रतियोगिता में सम्मिलित कराया, जहाँ से मैं सर्वश्रेष्ठ पदक विजेता बनकर लौटा ।अभी तक मैं झारखंड, असम, त्रिपुरा, सहित उन्य राज्यों में प्रतियोगी बनकर पदक जीत चुका हूँ और अब देश के पदक जीतकर लाऊँ, यही अभिलाषा है ।परवेज ने बताया कि प्रथम बार पटना के प्रसिद्ध चिकित्सा और स्कूल के संस्थापक डॉक्टर अजय कुमार के हाथों प्राप्त मेडल मेरे खेल जीवन के लिए काफी अहम है।यहीं से और आगे कुछ कर गुजरने की हौसला मिली ।परवेज वैशाली के डीएम रचना पाटिल, एसपी राकेश कुमार, बिहार और झारखंड के मंत्रीयों के हाँथो पदक प्राप्त कर खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहा है ।उसने कहा जो प्यार ,स्नेह और आशीर्वाद मुझे आज रवानगी के अवसर आज मिला है, उसके बदौलत एक दिन देश के लिए जरूर पदक जीत कर अपने झेत्र के लोगों का सम्मान बढाउँग ।

ग्रामीणों के अनुसार परवेज को दौङने की ललक बचपन से ही है ।ये जब दौङता था, तो हमलोगों अजीब सा लगता था ।हमलोगों को क्या पता था कि ये एक दिन हमारा नाम दौङकर रौशन करेगा । ग्रामीण मोहम्मद आजाद, मुर्तुज़ा, सलमान मियाँ, लखेन्द्र पासवान, प्रेम नाथ राय ,रसलपुर निवासी संजय चौधरी, डीह बुचौली के मनीष साहनी आदी ने कहा कि ये देश के लिए खेलने की जज्बा लिए हुए हैं और खेल भावना समुदाय की आर को नहीं स्वीकार करता, इसलिए आज इसे विदा करने हम दोनों समुदाय के लोग जुम्मे के अवसर नमाज आदा कर सफलता की दुआ मांगी है ।लोगों की दुआ से आहलादित परवेज ने कहा कि आपकी दुआ मुझे कामयाबी दिलायेगी ।

Check Also

युवा जदयू के नवनियुक्त जिला अध्यक्ष चंदन कुमार सिंह का कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत

Hits: 0 महनार – युवा जदयू के नवनियुक्त जिला अध्यक्ष चंदन कुमार सिंह का अपने …

भाजपा के बछवाड़ा विधायक को नहीं है सोशल डिस्टेंस का ख्याल, बिना मास्क पहने हीं पहुंच गए कार्यक्रम में

Hits: 0राकेश यादव, बछवाड़ा (बेगूसराय)। समूचे देश में कोरोना कहर बरपा रही है और सरकार …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: