Breaking News
Home / National / Bihar / Begusarai / फर्जी ननबैंकिंग द्वारा ठगी मामले में एसडीओ तेघरा ने जांच रिपोर्ट भेज की करवाई की मांग

फर्जी ननबैंकिंग द्वारा ठगी मामले में एसडीओ तेघरा ने जांच रिपोर्ट भेज की करवाई की मांग

Hits: 34

अभिषेक राय, तेघरा। थाना क्षेत्र के बरौनी 2 में फर्जी ननबैंकिंग द्वारा स्थानीय ग्रामीणों से की गई ठगी मामले में एसडीओ तेघरा ने जांच रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेजकर कार्रवाई की मांग की है। अपने जांच रिपोर्ट में एसडीओ डॉ निशांत ने उक्त पंचायत में कार्यरत शिक्षक वकील पासवान उसकी पत्नी निशा देवी, राजकुमार झा, विजय कुमार दास, रिंकू कुमार, आदि को इस फर्जीवाड़े में शामिल होने की बात कही है।

ज्ञात हो की थाना क्षेत्र के उक्त पंचायत में एक गिरोह के द्वारा बंद ननबैंकिंग के नाम पर लाखो रूपये की ठगी की घटना को अंजाम दिया गया। इस सम्बन्ध में ग्रामीणों ने समूहिक रूप से आवेदन एसडीओ डॉ निशांत के कार्यालय में शिकायत दर्ज की। ज्ञात हो की उक्त पंचायत में बिश्वामित्र इंटरनेशनल इंफ्रा लिमिटेड नाम की संस्था को कुछ लोगो द्वारा संचालित किया जा रहा था। जिसमे दो सरकारी शिक्षक, एक अधिवक्ता एवं एक अन्य लोग अपने परिवार समेत शामिल थे। इन सबो ने मिलकर वर्ष 2011 से उक्त संस्था के लिए लोगो को बहला फुसला कर पैसा जमा करवा रहे थे।

जिसमे लोगो से तीन सौ रुपया प्रति माह किश्त 30 माह के लिए जमा लिया गया। 63 माह बाद उक्त राशि को वापसी करने की बात कही गई थी। पंचायत के गरीबो के द्वारा पेट काटकर अपने सुनहरे भविष्य के लिए उसमे रूपये जमा किया। मगर 63 माह पुरे हुए तीन वर्ष हो चुके है। किसी को उक्त गिरोह ने पैसा वापस नहीं किया। पैसे को लेकर लोग चिंतित एवं परेशान होकर एसडीओ के समक्ष गुहार लगाईं।

मामले को गंभीरता से लेते हुए एसडीओ डॉ निशांत ने अविलम्ब गिरोह के संचालनकर्ता सह शिक्षक वकील पासवान के घर पर छापेमारी की। जिसमे उसके घर से दर्जनों जमाकर्ता के पासबुक मिले। जिसपर रूपये लेने के बाद उसकी पत्नी निशा देवी के हस्ताक्षर थे। एसडीओ के द्वारा करवाई की सुचना पाकर सैकड़ो लोग अपने पासबुक लेकर वहा पहुंच गए। आक्रोशित लोग अपने रूपये वापसी की मांग करने लगे।

जांचोपरांत स्थल पर पूछताछ करने के उपरान्त एसडीओ ने बताया कि इनलोगो के द्वारा इस पंचायत के लगभग 800 लोगो को ग्राहक बनाया गया है जिससे लगभग सभी लोगो ने 15 से 20 हजार रुपए तक जमा किए है। इनको इस प्रकार रूपये लेने का आदेश किसने दिया इसकी जांच की जाएगी। पूछने पर बताया कि इस कार्य मे इसी पंचायत के शिक्षक वकील पासवान, उसकी पत्नी, अधिवक्ता राजकुमार झा, विजय दास, रिंकू कुमार शामिल है। एसडीओ डा निशांत ने कहा कि जांचप्रतिवेदन जिलाधिकारी महोदय को भेजी गई है। उनके आदेश के उपरांत आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Check Also

लोजपा प्रत्याशी संजय सिंह ने चलाया जनसंपर्क अभियान

Hits: 0महुआ । महुआ विधानसभा क्षेत्र के लोजपा प्रत्याशी संजय सिंह ने महुआ प्रखंड के …

चोरी की बढ़ते घटना से लोगों में दहशत

Hits: 0महुआ । महुआ थाना क्षेत्र के मंगुराही पंचायत के मंगुराही गांव में गुरुवार की …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: