Breaking News
Home / Breaking News / बाजार की जरूरत के अनुरूप उत्पाद तैयार करने के लिए प्रोत्साहित करें: रघुवर दास

बाजार की जरूरत के अनुरूप उत्पाद तैयार करने के लिए प्रोत्साहित करें: रघुवर दास

Hits: 12

मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि झारखंड में बांस और प्राकृतिक फाइबर की काफी पैदावार है। यहां के लोग इनके उत्पाद भी तैयार कर रहे हैं। बस जरूरत है, तो एक मार्केट की। इन्हें थोड़ा सा प्रशिक्षण देकर बाजार की मांग के अनुरूप उत्पाद तैयार कराया जा सकता है। इससे घर-घर में ग्रामोद्योग को बढ़ावा मिलेगा और बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

उक्त बातें उन्होंने झारखंड मंत्रालय में आइकेइए के प्रतिनिधिमंडल से बातचीत के दौरान कहीं। उन्होंने कहा कि दुमका के साथ साथ चाकुलिया में भी बांस की काफी पैदावार है। इन क्षेत्रों में कलस्टर विकसित कर काम शुरू किया जा सकता है। इसके साथ ही अन्य प्राकृतिक फाइबर के लिए भी क्षेत्र चिह्नित कर कलस्टर विकसित करें। कालिंदी समाज के लोग काफी गुणी है। उन्हें बाजार की जरूरत के अनुरूप उत्पाद तैयार करने के लिए प्रोत्साहित करें। झारखंड में असूर जाति के भी काफी लोग निवास करते हैं। उन्हें भी इससे जोड़ा जा सकता है।

आइकेइए के न्यू बिजनेस मैनेजर श्री संदीप सानन ने बताया कि झारखंड में इस तरह के उत्पाद की काफी संभावना है। यहां काफी कच्चा माल उपलब्ध है। लोग सीधे-साधे और मेहनतकश हैं। कंपनी इएसएएफ के माध्यम से दुमका के शिकारीपाड़ा स्थित कलस्टर से बांस उत्पाद खरीद रही है। यहां 600 लोगों को रोजगार मिला हुआ है। बैठक में उन्होंने बताया कि राज्य में 99 कलस्टर चिह्नित किये गये हैं। प्रत्येक कलस्टर में 300-300 लोगों को रोजगार मिलेगा। इस प्रकार कम से कम 30 हजार लोगों को इससे जोड़ा जा सकता है।

बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री सुनील कुमार बर्णवाल, उद्योग निदेशक श्री के रविकुमार, झारक्राफ्ट के प्रबंध निदेशक श्री मंजूनाथ भजंत्री, इएसएएफ के एसोसिएट डायरेक्टर श्री अजीथ सेन समेत अन्य लोग उपस्थित थे।

Check Also

गंडक तटबंध पर बचे कार्य के लिए व्यक्त की नाराज़गी

Hits: 0वैशाली।  जिलाधिकारी वैशाली श्रीमती उदिता सिंह ने अपर समाहर्ता , BDO वैशाली, CO हाजीपुर …

सहदेई बुजुर्ग बाजार स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शाखा के बाहर कोरोना गाइडलाइन की जमकर उड़ी धज्जियां

Hits: 0सहदेई बुजुर्ग – लॉकडाउन के दूसरे दिन सहदेई बुजुर्ग प्रखंड में एक और जहां …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: