Breaking News
Home / National / Bihar / आखिर कब तक समाज का चौथा स्तम्भ कहे जाने वाले पत्रकार भेड़ – बकरी की तरह कटते रहेंगे

आखिर कब तक समाज का चौथा स्तम्भ कहे जाने वाले पत्रकार भेड़ – बकरी की तरह कटते रहेंगे

Hits: 31

उमेश कुमार विप्लवी, पटना / बिहार।
बिहार प्रदेश इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन महुआ के तत्वाधान में अराधना न्यूज़ के कार्यालय में पत्रकारों और बुद्धिजीवियों की एक अहम बैठक हुई , जिसमें आरा में दो पत्रकारों की वहां के दबंगों द्वारा हत्या किये जाने पर रोष प्रकट किया गया। साथ ही साथ मृत पत्रकारो के प्रति श्रधांजलि अर्पित कर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए शोक प्रकट किया गया।

उपस्थित पत्रकारों ने सरकार के प्रति गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि आये दिन पत्रकारों पर हमला एवं घटनाएं हो रहे हैं और केवल जांच की बात कर सरकार खानापूर्ति कर लेती है। आखिर कब तक समाज का चौथा स्तम्भ कहे जाने वाले पत्रकार भेड़ – बकरी के तरह कटते रहेंगे।

पत्रकारों की मुआवजा की बात हो या सुरक्षा की बात, केवल सरकार आश्वासन की रेवड़ी थामा देती है। फिर अगले महीने दूसरे इलाके में पत्रकार की हत्या हो जाती है । अब समय आगया है कि सभी पत्रकार अपनी आपसी मतभेदों को भुला कर चट्टानी एकता का परिचय देते हुए अपनी सुरक्षा के प्रति सजग रहने की जरूरत है।

बैठक में दोनो पत्रकारों को 25-25 लाख रुपये मुआवजा एवं आश्रितों को सरकारी नौकरी के साथ -साथ सभी पत्रकारों को सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की गयी। इस बैठक में पारस नाथ सिंह , कौशल किशोर सिंह , दिनेश पासवान , संजीव कुंमार, सुधीर मालाकार, शराफत खान, मो.अनवर, संजय कुमार, सुधीर कुमार उपस्थित थे।

बैठक का संचालन उमेश कुमार विप्लवी , इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के तिरहुत प्रमंडल प्रभारी ने किया तथा प्रदेश कोषाध्यक्ष इंडियन जर्नालिस्ट एसोसिएशन नसीम रब्बानी की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न हुआ।

Check Also

सहदेई बुजुर्ग बाजार स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शाखा के बाहर कोरोना गाइडलाइन की जमकर उड़ी धज्जियां

Hits: 0सहदेई बुजुर्ग – लॉकडाउन के दूसरे दिन सहदेई बुजुर्ग प्रखंड में एक और जहां …

गैस सिलेंडर वितरक की सुध न सरकार को न हीं संगठन को

Hits: 0वैशाली। कोरोना महामारी के दौर में फ्रंट लाइन वर्कर्स द्वारा किया जा रहा कार्य …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: