Breaking News
Home / National / Bihar / नक्सलियों के भय से 12 वर्ष में भी नहीं बना पुल

नक्सलियों के भय से 12 वर्ष में भी नहीं बना पुल

Hits: 12

अंजुम आलम के साथ अरुण कुमार की रिपोर्ट। खैरा- जमुई नवादा सीमा पर दो राज्यों को जोड़ने वाली बादलडीह पुल का निर्माण नक्सलियों के भय से 12 वर्षों के बाद भी पूरा नहीं हो पाया है। इस कारण बारिश से नक्सल प्रभावित हरखाड पंचायत का संपर्क प्रखंड मुख्यालय से कट गया है 21 जनवरी 2006 को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 5 करोड़ की लागत से इस पुल की आधारशिला रखी थी शिलान्यास के उपरांत निर्माण कार्य शुरू होते ही नक्सलियों ने लेवी की मांग कर दी लेवी नहीं देने पर नक्सलियों ने पुल निर्माण बंद करा दिया।

कुछ समय बाद संवेदक ने किसी तरह काम शुरू कराया लेकिन एक साल बाद स्थानीय अपराधियों ने निर्माण कार्य में लगे कर्मियों के साथ मारपीट कर काम बंद करा दिया 26 जून 2009 को अपराधियों ने रंगदारी के लिए पुल निर्माण में लगे कर्मचारी अरविंद साव, विपिन साव तथा अशोक सिंह को अगवा कर लिया काफी मशक्कत के बाद इन तीनों की रिहाई हो सकी फिर 2010 में संवेदक द्वारा कार्य प्रारंभ कराया गया।

इस बीच फिर नक्सली वहां आ पहुंचे और लेवी की मांग कि संवेदक ने लेवी देने की बात कही लेकिन नक्सलियों को भी रसीद नहीं दिखा सके बाद में मालूम चला कि नक्सलियों के नाम पर स्थानीय अपराधी ने लेवी वसूली की इस कारण नक्सलियों ने फिर काम बंद करा दिया कुछ दिन बीत जाने के बाद संवेदक बालकृष्ण भलोटिया कंपनी के द्वारा नक्सलियों को लेवी देकर पुल निर्माण कार्य को चालू कराया जो अभी तक पूर्ण नहीं हो पाया है।

पुल निर्माण संघर्ष समिति के सदस्य दीपक हेमवृम,भूषण यादव, रामबालक यादव बताते हैं कि पुल निर्माण कब पूरा होगा कहा नहीं जा सकता पुल निर्माण पूरा होते ही जमुई से गिरिडीह की दूरी 20 किलोमीटर कम हो जायेगी साथ ही एन एच 333तथा ए पर वाहनों का दवा कम होगा इससे बरसात के दिनों में नाव से पार करने में कठिनाई होती है।

Check Also

गंडक तटबंध पर बचे कार्य के लिए व्यक्त की नाराज़गी

Hits: 0वैशाली।  जिलाधिकारी वैशाली श्रीमती उदिता सिंह ने अपर समाहर्ता , BDO वैशाली, CO हाजीपुर …

सहदेई बुजुर्ग बाजार स्थित सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की शाखा के बाहर कोरोना गाइडलाइन की जमकर उड़ी धज्जियां

Hits: 0सहदेई बुजुर्ग – लॉकडाउन के दूसरे दिन सहदेई बुजुर्ग प्रखंड में एक और जहां …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: