Breaking News
Home / Devotional / भरतीय नववर्ष का ऐतिहासिक महत्व

भरतीय नववर्ष का ऐतिहासिक महत्व

Hits: 18

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा का ऐतिहासिक महत्व :

*1.* इसी दिन के सूर्योदय से ब्रह्माजी ने सृष्टि की रचना प्रारंभ की।

*2.* सम्राट विक्रमादित्य ने इसी दिन राज्य स्थापित किया। इन्हीं के नाम पर विक्रमी संवत् का पहला दिन प्रारंभ होता है।

*3.* प्रभु श्री राम के राज्याभिषेक का दिन यही है।

*4.* शक्ति और भक्ति के नौ दिन अर्थात् नवरात्र का पहला दिन यही है।

*5.* सिखो के द्वितीय गुरू श्री अंगद देव जी का जन्म दिवस है।

*6.* स्वामी दयानंद सरस्वती जी ने इसी दिन आर्य समाज की स्थापना की एवं कृणवंतो विश्वमआर्यम का संदेश दिया |

*7.* सिंध प्रान्त के प्रसिद्ध समाज रक्षक वरूणावतार संत झूलेलाल इसी दिन प्रगट हुए।

*8.* विक्रमादित्य की भांति शालिवाहन ने हूणों को परास्त कर दक्षिण भारत में श्रेष्ठतम राज्य स्थापित करने हेतु यही दिन चुना।

*9.* युधिष्ठिर का राज्यभिषेक भी इसी दिन हुआ।

*भारतीय नववर्ष का प्राकृतिक महत्व :*

*1.* वसंत ऋतु का आरंभ वर्ष प्रतिपदा से ही होता है जो उल्लास, उमंग, खुशी तथा चारों तरफ पुष्पों की सुगंधि से भरी होती है।

*2.* फसल पकने का प्रारंभ यानि किसान की मेहनत का फल मिलने का भी यही समय होता है।

*3.* नक्षत्र शुभ स्थिति में होते हैं अर्थात् किसी भी कार्य को प्रारंभ करने के लिये यह शुभ मुहूर्त होता है।

*भारतीय नववर्ष कैसे मनाएँ :*

*1.* हम परस्पर एक दुसरे को नववर्ष की शुभकामनाएँ दें।

*2.* आपने परिचित मित्रों, रिश्तेदारों को नववर्ष के शुभ संदेश भेजें।

*3 .* इस मांगलिक अवसर पर अपने-अपने घरों पर भगवा पताका फेहराएँ।

*4.* आपने घरों के द्वार, आम के पत्तों की वंदनवार से सजाएँ।

*5.* घरों एवं धार्मिक स्थलों की सफाई कर रंगोली तथा फूलों से सजाएँ।

*6.* इस अवसर पर होने वाले धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भाग लें अथवा कार्यक्रमों का आयोजन करें।

 

संकलन: व्हाट्सएप मेसेज : अशोक कुमार सिन्हा (लखनऊ जनसंचार संस्थान, जियामऊ)

Check Also

ऑक्सीजन उपलब्धता कोषांग की समीक्षा बैठक में दिया गया कई निर्देश

Hits: 0वैशाली।  जिलाधिकारी वैशाली श्रीमती उदिता सिंह ने ऑक्सीजन उपलब्धता कोषांग की समीक्षा बैठक की। …

अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ से सम्बद्ध राज्यों के विद्यालय संगठनों की ऑनलाइन बैठक हुई आयोजित

Hits: 0सहदेई बुजुर्ग- अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ से सम्बद्ध राज्यों के विद्यालय संगठनों की …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: